Posts

"Strengthening of the Public Health Services: the Ultimate Need of the Hour"

Image
The human race is passing through the most difficult and unprecedented phase of its history. Perhaps this is the first occasion, when the most evolved human race on the earth is forced to imprison itself in homes. They have to accept that the boundaries of country, nation, language, culture, religion, occupation, poor and rich all are man-made; and when it comes to the nature, we are all equal and interdependent. Health is not a personal privilege but a social necessity that directly affects our life, family, society and country. Health is the most important factor to measure a country’s fortune and development. Let’s see the chronology of COVID-19: First case of COVID-19 was registered in Kerala on January 30, 2020. COVID -19 was declared pandemic by Dr. Tedros Adhanom Ghebreyesus, Director General of the World Health Organization (WHO) on March11, 2020. Janata curfew was imposed on March 22, followed by 21 days countrywide lockdown, which has been extended till May 3, 2020.

Now s…

“सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं का सुदृढ़ीकरण_आज की सबसे बड़ी आवश्यकता”

Image
मानव जाति अपने इतिहास के सबसे कठिन और अभूतपूर्व दौर से गुजर रही है। शायद यह पहला अवसर है; जब पृथ्वी पर सबसे विकसित समझे जाने वाली मानव जाति अपने आप को घरों में कैद करने के लिए मजबूर हैं। मानव जाति स्वीकार करने को मजबूर है कि देश, राष्ट, भाषा, संस्कृति, धर्म, व्यवसाय, गरीब और अमीर की सीमाएं मानव निर्मित हैं; अन्यथा प्रकृति के समक्ष हम सभी समान औरअंतर्निर्भरहैं। व्यक्तिगत स्वास्थ्य सामाजिक स्वास्थ्य से गहरे रूप से संबंधित है। स्वास्थ्य एक व्यक्तिगत विशेषाधिकार ना होकर सामाजिक आवश्यकता है जिससे हमारा जीवन, परिवार, समाज और देश सीधे रूप से प्रभावित होता है। स्वास्थ्य देश की समृद्धि और विकास को निर्धारित करने में सबसे महत्वपूर्ण कारक होता है।30 जनवरी भारत के केरल राज्य में कोविड-19 पहला केस का दर्ज होना, 11 मार्च को विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस द्वारा कोविड-19 वैश्‍विक महामारी घोषित करना, 22 मार्च को जनता कर्फ्यू, उसके बाद 21 दिन का लॉकडाउन और इसके उपरांत भी कोविड-19 के मरीजों की संख्या में निरंतर प्रगति हमें स्वास्थ सेवाओं और विशेष रूप से सार्वजनिक क्ष…

“उत्थान-भवन सरमथुरा" के उत्थान की कहानी”

Image
“उत्थान-भवन सरमथुरा" के उत्थान की कहानी”#SBGBT
उत्थान-भवन सरमथुरा" के उत्थान की कहानी “पैसों की तंगी-तालीम के आड़े नहीं आती" इस कहावत को और महान कवि रामधारी सिंह दिनकर द्वारा रश्मिरथी में लिखित पंक्तियों “मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है” को सार्थक करती है। यह सर्व विदित है कि मानव जाति के विकास की आधारशिला शिक्षा है। एक सुव्यवस्थित शिक्षा प्रणाली ही मानव को सुसंस्कृत, संवेदनशील एवं विवेकशील बनाने के साथ विचारवान भी बनाती है। शिक्षा ही किसी भी समाज एवं राष्ट्र के विकास,उसकी समृद्धि एवं संपन्नता का मूल होती है। किसी भी समाज और राष्ट्र का विकास इस बात पर निर्भर करता है कि उस समाज और राष्ट्र में लोगों को कितनी गुणवत्तापूर्ण सुलभ शिक्षा उपलब्ध है।
भारत की आबादी का बहुत बड़ा हिस्सा गांवों में वास करता है। ऐसे में गांवों के विकास द्वारा ही देश का विकास सुनिश्चित किया जा सकता है और शिक्षा की इसमें सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है। “उत्थान-भवन सरमथुरा" इस क्षेत्र के लोगों की शिक्षा के प्रति जागरूकता और अपने बच्चों को शिक्षित करने की दृढ़ इच्छाशक्ति का…

“स्मार्ट गाँव' धनौरा” की विदेशों में पहचान (Message from “Smart Village Dhanora” reached to foreign lands)

Image
15.11.2019

“स्मार्ट गाँव' धनौरा” की विदेशों में पहचान (Message from “Smart Village Dhanora” reached to foreign lands)

It's a great privilege and honour to the “Smart village Dhanora” that the efforts made by the people of the village are being recognised not only by the Honorable Prime Minister of India, Chief Minister of Rajasthan but also by the people from the foreign lands. A delegation of Japanese visited “Smart village Dhanora” this week. They studied the model of village development, interacted with the people of the village, youths of the village, women and student of the village and gave various constructive suggestions for further improvement and further development. One of the major suggestions was that this positive thought for rural development should be separated to other villages. The group was briefed about "Soch Badlo Ganv Badlo movement" and utthanpatrika, utthan Bhawan, utthan library etc which are being run by SBGBT. The members of the delegati…

#SBGBT 30 वां पड़ाव नादौती(करौली), [दिनांक 09, जून 2019]

#SBGBT 30 वां पड़ाव नादौती(करौली), [दिनांक 09, जून 2019]
नमस्कार सज्जनों, जैसाकि कि आप सभी को विदित है, कि कल दिनांक 09.06.2019 को नादौती में SBGBT की 30 वीं यात्रा का सुखद, सफल और यादगार रूप से संपन्न हुई। नादौती युवा टीम के अनुरोध पर SBGBT इस गाँव की पुनीत भूमि पर पधारकर फलीभूत हुई, धन्य हुई। इस दौरान नादौती टीम के द्वारा एक विशाल सार्वजनिक भवन में बैठक का आयोजन किया गयी, जिसमें स्थानीय जनसमूह ने बढ-चढकर भागीदारी निभायी। माता बहनें भी इस पुण्याहुति में शामिल हुईं, जो हम सभी के लिए गौरव की बात है। इस कार्यक्रम का प्रमुख उद्देश जनजागरुकता और जनसहभागिता के माध्यम से जनहितैषी कार्यों को साकार करना तथा क्षेत्र की सार्वजनिक समस्याओं के सामूहिक रूप से समाधान खोजना। इसी क्रम में SBGBT ने नियमानुसार सर्वप्रथम नादौती गाँव के प्रतिवेदन का गंभीरता से अध्ययन किया। इसके माध्यम से SBGBT को जो जानकारी और अनुभव हुआ उसका विस्तृत विवरण इस प्रकार है- नादौती करौली से पश्चिम की ओर करीब 62-64 किमी दूर एक तहसील के रूप में स्थापित है। जिसकी अनुमानित जनसंख्या 7000 है। लगभग 900 लिंगानुपात वाले इस कस्बे में साक्ष…

#SBGBT 29 वां पड़ाव पदमपुरा (हरियापुरा), [दिनांक 28, अप्रैल 2019]

#SBGBT 29 वां पड़ाव पदमपुरा (हरियापुरा), [दिनांक 28, अप्रैल 2019]
नमस्कार साथियों, SBGBT “सोच बदलो गांव बदलो यात्रा” कार्यक्रम के माध्यम से ग्रामीण परिवेश में जन जागरूकता और जन जागृति के लिए निरंतर प्रयासरत है। टीम का मानना है कि ग्रामीण परिवेश में बदलाव लाने के लिए जन जागरूकता सबसे महत्वपूर्ण है। जन जागरूकता के माध्यम से ही प्रशासनिक सहयोग और सरकारी योजनाओं की सही जानकारी सुनिश्चित की जा सकती है। बदलाव की इस मुहिम को आगे बढ़ाते हुए और टीम के महत्वपूर्ण  कार्यक्रम “शिक्षा पाओ-ज्ञान बढाओ प्रतियोगिता” को जन जन तक पहुंचाने के लिए टीम की 29वीं मीटिंग का आयोजन पदमपुरा (हरियापुरा) में किया गया।
जैसाकि आपको विदित है, कि 3.02.2019 को SBGBT के सौजन्य से धौलपुर जिले के विभिन्न गांवों को कुल 20 सर्कलों में विभाजित करके “शिक्षा पाओ-ज्ञान बढाओ प्रतियोगिता” का आयोजन किया गया। जिसमें कक्षा 6 से 12वीं तक के विद्यार्थियों ने भाग लिया था। परिणाम की घोषणा के पश्चात सफल रहे प्रथम तीन प्रतिभागियों को पुरस्कृत करने हेतु सम्मान समारोह का पहला आयोजन टीम की इस मीटिंग के साथ ही किया गया। जिसमें खैमरी गाँव के ग्…

#SBGBT 28 वां पड़ाव मीना दांत का पुरा गाँव, करौली [दिनांक 04 नवम्बर, 2018]

गाँवों में सकारात्मक और रचनात्मक बदलाव की मुहिम "सोच बदलो गांव बदलो यात्रा" अपने 28वें  पड़ाव के रूप में दिनांक 04/11/2018 को गाँव मीना दांत का पुरा (करौली) पहुंची। इस जागरूकता सभा का आयोजन  गांव के युवाओं और कर्मचारियों के के आग्रह पर किया गया|जिसमें  समस्त ग्रामीणों एवं पड़ोसी गाँव के लोगों ने बढ-चढ़कर भाग लिया। टीम के सदस्य भी बडी तादाद में जनजाग्रति फैलाने हेतु इस कार्यक्रम में उपस्थित हुए।

1. *SBGBT* टीम के नेतृत्व में आयोजित यह मीटिंग जनजागरुकता, जनकल्याण और जनसहभागिता की दृष्टि से विशेष महत्व रखती है। जिसका उद्देश्य समाज में व्याप्त सामाजिक बुराइयों, कुरीतियों और व्यसन आदि को ख़त्म कर एक स्वस्थ और सुखी समाज का निर्माण करना है। कार्यक्रम के दौरान *SBGBT* के प्रखर वक्ताओं ने अपने ओजस्वी एवं सकारात्मक वक्तव्यों से  युवाओं और ग्रामीणों में जनजाग्रति पैदा करने के सार्थक प्रयास किये गये।
2. मीटिंग में *मीना दांत का पुरा* गाँव के अलावा *कोटरी, पालनपुर, मोठिया पुरा* के ग्रामीणों एवं युवाओं ने भी भाग लिया। जिसमें स्थानीय गाँव की महिलाओं ने भी बड़ी संख्या में भाग लेकर मीटिंग को य…

टीम के युवा कार्यकर्ता द्वारा स्मार्ट विलेज धनोरा और सोच बदलो गांव बदलो ...

Image
#

उत्थान कोचिंग संस्थान_उत्थान भवन

Image

सोच बदलो गांव बदलो टीम_ग्रामीण विकास की नवीन अवधारणा

Image